फुलेरा दूज 2021: फूलेरा दूज में खेली जाती है फूलों की होली, जानिए इसके महत्व के बारे में

फूलेरा दूज का पर्व 2021 में मार्च महीने के 15 तारीख को मनाया जाएगा। यह दिन इसलिए विशेष है क्योंकि इस दिन राधा कृष्ण का मिलन हुआ था और दोनों ने फूलों की होली खेली थी। इस दिन को होली की शुरूआत भी माना जा सकता है।

Queen Didda Rani: कश्मीर की महारानी दिद्दा, जिसने सुशासन के लिए मरवा दिए खुद के बेटे



फुलेरा दूज का महत्व



फूलेरा दूज के दिन राधा कृष्ण की मिलन हुआ था इसलिए इस दिन को प्रेम संबंधों में मधुरता लाने वाला दिन भी कहा जा सकता है। ऐसी मान्यता है कि जो लोग इस दिन राधा कृष्ण का पूजन अर्चन करते हैं उनके जीवन में प्रेम संबंधों में मधुरता आती है।


फुलेरा दूज पर मुहुर्त


बुध ग्रह कमजोर हैं तो शिक्षा और व्यापार पर होगा बुरा असर, जरूर आजमाएं ये उपाय



फूलेरी दूज का दिन एक शुभ मुहुर्त है इस दिन किसी भी विशेष मांगलिक कार्यों को किया जा सकता है इसके लिए कोई अलग से मुहुर्त निकालने की आवश्यकता नहीं होती है क्योंकि फूलेरी दूज अपने आप में ही एक अच्छा मुहुर्त है। इसका अर्थ है कि इस दिन विशेष कार्य जैसे कोई व्यापार की शुरूआत की जा सकती है। इसके अतिरिक्त विवाह के लिए भी यह काफी शुभ महुर्त होता है।


फुलेरा दूज को इस तरह से मनाते हैं



इस दिन भगवान कृष्ण के लिए कई तरह के पसंदीदा पकवान बनाए जाते हैं और फूलों की होली खेली जाती है। इस दिन बृज के मंदिरों को फूलों से सजाया जाता है। वहां भक्तों में इस पर्व के लिए काफी उत्साह देखने को मिलता है।

सैकड़ों सालों से पर्यटकों को लुभा रही देश की ये बावड़ियां, देखें photo

United States Capitol : अमेरिकी संसद भवन, जितनी सुंदर इमारत, उतना ही शानदार इतिहास, देखें Photo