क्या अब वैक्सीन लगवाने के बाद नहीं रहेगा मास्क लगाने वाला टास्क

लोगों में कोरोना को लेकर मास्क लगाने के नियम अभी भी जारी है। कोरोना वैक्सीन लगवाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है लेकिन अब लोगों के मन में यह सवाल है कि क्या कोरोना का खतरा वैक्सीन लगवाने के बाद भी है। वैक्सीन लगवाने के बाद क्या अब मास्क लगाने से छुटकारा मिलेगा आइए इसी पर विस्तार से चर्चा करते हैं- Queen Didda Rani: कश्मीर की महारानी दिद्दा, जिसने सुशासन के लिए मरवा दिए खुद के बेटे मास्क से कब मिलेगी मुक्ति

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक मास्क पहनने के वैज्ञानिक आधार और सामाजिक आधार हो सकते है। बात करें वैज्ञानिक आधार की तो कोरोना वैक्सीन 100% तक लग पाना काफी मुश्किल है लेकिन वैक्सीन लगवाने के बाद कोरोना का रिस्क काफी कम हो जाएगा। जो लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं उनमें कोरोना वैक्सीन की तरह ही एंटीबॉडी तैयार हो जाती है इसलिए उन्हें वैक्सीन लगाने की जरूरत नहीं होगी। इस तरह काफी लोगों को कोरोना वैक्सीन लग चुकी होगी इससे बीमारी से ठीक हुए लोग और वैक्सीन लगवाने वाले लोग दोनों तरह के लोग यदि आपस में मिलते हैं तो इन्हें कोरोना का खतरा काफी कम हो जाएगा और इन लोगों को मास्क लगाने की जरूरत नहीं होगी। वहीं सामाजिक आधार की बात करें तो यदि बाहर कुछ लोग मास्क नहीं लगाएंगे तो ऐसे लोगों को देखकर दूसरे लोग भी मास्क लगाना छोड़ देंगे और इसमें यह नहीं पता चल पाएगा कि कौन बीमार है और कौन बीमारी से ठीक हो चुका है और किन लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। ऐसी स्थिति में सभी को मास्क लगाना बेहद जरूरी होगा। सैकड़ों सालों से पर्यटकों को लुभा रही देश की ये बावड़ियां, देखें photo कोरोना के नए वेरिएशंस

United States Capitol : अमेरिकी संसद भवन, जितनी सुंदर इमारत, उतना ही शानदार इतिहास, देखें Photo

कोरोना वैक्सीन वैसे तो काफी हद तक काम करेगी लेकिन हाल ही में कोरोना के कुछ नए वेरिएशंस आ रहे हैं तो यह आगे जाकर ही पता चल सकेगा कि इन नए वेरिएशंस पर कोरोनावायरस की वैक्सीन असरदार होगी या नहीं। इस तरह ऐसी स्थिति में भी मास्क लगाना ही सुरक्षित होगा।


भारत में कब तक लगाना होगा मास्क



भारत में अभी भी यह बताने काफी समय लग सकता है क्योंकि फिलहाल हेल्थ वर्कर्स , 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले और 45 वर्ष की उम्र वाले जिन्हे कोई बीमारी हो ऐसे लोगो को ही वैक्सीन लग रही है। भारत में अभी तक 50 फीसदी लोगों को कोरोना हो चुका है इसलिए ऐसा कहा जा रहा है कि जिन्हे कोरोना हो चुका है उन्हे कोरोना की वैक्सीन लगवाने की आवश्यकता नहीं होगी, क्योंकि उनमें कोरोना वैक्सीन के असर की तरह ही एंटीबॉडी विकसित हो जाती है जिससे उन्हे 6 महीने तक कोरोना का खतरा नहीं होता है। हालांकि सौ फीसदी लोगों को जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं लग जाती तब तक कहना काफी मुश्किल है कि मास्क कब तक लगाना पड़ सकता है। क्योंकि भीड़भाड़ वाली जगहों पर कोरोना का खतरा फिर भी बना रहेगा। यदि मास्क सभी लगाना बंद कर देते हैं तो उनमें कोरोना होने की संभावनाएं बढ़ सकती हैं।

फेफड़ों की परेशानी बताता है पीक फ्लो टेस्ट, दमा के रोगी कर सकते हैं इसका इस्तेमाल

बुध ग्रह कमजोर हैं तो शिक्षा और व्यापार पर होगा बुरा असर, जरूर आजमाएं ये उपाय